Connect with us

Defence News

राष्ट्रपति कोविंद ने सैनिकों को दिए 13 शौर्य चक्र पुरस्कार

Published

on

(Last Updated On: May 12, 2022)


राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने मंगलवार को सशस्त्र बलों के जवानों को 13 शौर्य चक्र पुरस्कार प्रदान किए। इसमें छह मरणोपरांत शामिल थे। अशोक चक्र और कीर्ति चक्र के बाद शौर्य चक्र भारत का तीसरा सबसे बड़ा शांतिकाल वीरता पुरस्कार है। दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में एक औपचारिक समारोह में पुरस्कार प्रदान किए गए।

राष्ट्रपति ने कर्तव्य के प्रति विशिष्ट वीरता, अदम्य साहस और अत्यधिक समर्पण के लिए कर्मियों को वीरता पुरस्कार भी प्रदान किए।

इस बीच, जनरल मनोज पांडे, जिन्होंने हाल ही में भारतीय सेना के 29वें प्रमुख के रूप में पदभार संभाला, ने परम विशिष्ट सेवा पदक प्राप्त किया। पांडे ने जनरल मनोज मुकुंद नरवने का स्थान लिया, जो 31 दिसंबर, 2019 से शीर्ष पद के प्रभारी थे।

शौर्य चक्र पुरस्कार विजेताओं की पूरी सूची:

1) मेजर रवि कुमार चौधरी (ग्रेनेडियर्स, 55वीं बटालियन, राष्ट्रीय राइफल्स)

2) मेजर अरुण कुमार पांडे (राजपूत रेजिमेंट, 44 वीं बटालियन, राष्ट्रीय राइफल्स)

3) सिपाही नीरज अहलावत (द जाट रेजिमेंट, 34वीं बटालियन, द राष्ट्रीय राइफल्स)

4) राइफलमैन मुकेश कुमार (राजपुताना राइफल्स, 9वीं बटालियन, राष्ट्रीय राइफल्स)

5)ग्रुप कैप्टन परमिंदर अंतिल (फ्लाइंग पायलट, भारतीय वायु सेना)

6) कैप्टन (अब मेजर) विकास खत्री (द मैकेनाइज्ड इन्फेंट्री, 16वीं बटालियन, द नेशनल राइफल्स)

7) राइफलमैन राकेश शर्मा (5 असम राइफल्स)

मरणोपरांत

1) आशुतोष कुमार (18वीं बटालियन, मद्रा रेजिमेंट)

2) हवलदार अनिल कुमार तोमर (राजपूत रेजिमेंट, 44वीं बटालियन, राष्ट्रीय राइफल्स)

3) हवलदार पिंकू कुमार (जाट रेजिमेंट, 34वीं बटालियन, राष्ट्रीय राइफल्स)

4) हवलदार काशीराय बम्मनल्ली (इंजीनियरों की वाहिनी, 44वीं बटालियन, राष्ट्रीय राइफल)

5) नायब सूबेदार श्रीजीत एम (सेना मेडल, 17वीं बटालियन, द मद्रास रेजिमेंट)

6) सिपाही मारुप्रोलू जसवंत कुमार रेड्डी (17 वीं बटालियन, द मद्रास रेजिमेंट)





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2017 राजेश सिन्हा . भारतीय वायुसेना में सेवा का अनुभव है .

%d bloggers like this: